1989 से 1993 तक, सनी देओल संग 1 बार नहीं, 2-2 बार हुआ था धोखा, 2 डायरेक्टरों ने बारी-बारी से किया था विश्वासघात!


नई दिल्ली. बॉलीवुड के सुपरस्टार धर्मेंद्र के लाडले सनी देओल सनी देओल के सामने दो ऐसा मौका आया जब उन्हें लगा कि उन्हें ठगा गया है. ज्यादा स्क्रीन देने का वादा करने वालों दो डायरेक्टरों ने अपनी-अपनी फिल्मों में उन्हें बारी-बारी से एक ही तरह से धोखा दिया था. जिसका पता उन्हें फिल्म रिलीज होने के बाद लगा. ऐसे में सनी देओल केवल नाराजगी दिखाने के सिवाय कुछ नहीं कर सकते थे. हालांकि धोखा खाने के बाद सनी देओल ने फिर कभी उन डायरेक्टरों के साथ काम नहीं किया.

पहली दफा सनी ने खुद को साल 1993 में आई ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘डर (Darr)’ के दौरान खुद को ठगा हुआ महसूस किया था. उन्होंने इस फिल्म के डायरेक्टर यश चोपड़ा पर कई सारे गंभीर अरोप लगाए थे. बता दें कि इस फिल्म में सनी देओल ने पहली बार शाहरुख खान (Shahrukh Khan) संग स्क्रीन शेयर किया था. इस फिल्म की हीरोइन जूही चावला (Juhi Chawla) थीं. फिल्म दर्शकों को खूब पसंद आई थी. इसने बॉक्स ऑफिस पर खूब कमाई की थी. हालांकि इस फिल्म के रिलीज होने के बाद सनी यश चोपड़ा पर काफी नाराज हो गए थे. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस फिल्म में भले सनी-शाहरुख को बराबर का लीड रोल मिला था, लेकिन फिल्म देखने के बाद सनी को लगा कि पूरी फिल्म केवल शाहरुख खान की है. यश चोपड़ा ने उनसे झूठ बोला था. उन्होंने उनके रोल को जिस तरह से बताया था वह वैसी नहीं थी. यह दूसरी दफा था जब सनी देओल ने किसी डायरेक्टर की फिल्म में दोबारा कभी काम नहीं करनी कमसें खाई थी. हालांकि कुछ ऐसा ही सीन उनके साथ साल 1989 में रिलीज हुई फिल्म ‘चालबाज’ (Chaalbaaz) के दौरान देखा गया था. इस फिल्म में सनी देओल ने रजनीकांत के साथ पहली बार स्क्रीन शेयर किया था. इस फिल्म की लीड एक्ट्रेस श्रीदेवी (Sridevi ) थीं. आईएमबीडी की रिपोर्ट की मानें तो, दो हीरो वाली फिल्म डर में जो कुछ हुआ था, उससे दुखी सनी देओल फिर ऐसी फिल्में नहीं करना चाहते थे. उन्होंने फिल्म में अपना स्क्रीन स्पेस देखने के बाद फिल्म को लगभग नाकार ही चुके थे. हालांकि जब डायरेक्टर नहीं मानें तो सनी ने शर्त रखी थी कि वो अगर वो फिल्म करेंगे तो उन्हें फिल्म में एक स्पेशल अपीयरेंस की तरह ही लिया जाएगा और वो फिल्म में बतौर लीड शामिल नहीं होंगे. लेकिन निर्देशक पंकज पाराशर इस शर्त को नहीं मानें. सनी को फिल्म में लीड रोल कास्ट करने के लिए निर्देशक पंकज पाराशर ने सनी देओल से वादा किया कि फिल्म में उनका दमदार रोल और स्क्रीन स्पेस होगा जो रजनीकांत से कहीं ज्यादा ही होगा. सनी न चाहकर भी इस फिल्म को किया और बाद में फिल्म रिलीज होने के बाद वह डायरेक्टर पर काफी नाराज हो गए थे. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो इस फिल्म को करने के बाद सनी को महसूस हुआ कि उनसे झूठ बोला गया. फिल्म में उनके अपोजिट को-स्टार को रोल को उस तरीके से उन्हें बताया था, जैसा फिल्म में दिखाया गया.

इसके अलावा सनी फिल्म के पोस्टर्स में भी दिखे थे. लेकिन पोस्टर पर उनके नाम के आगे स्पेशल अपीयरेंस मेंशन नहीं करने से वह बेहद नाराज हो गए थे. फिल्म रिलीज होने के बाद सनी ने निर्देशक पंकज वादा तोड़ने का आरोप लगाया था. फिल्म डर के दौरान भी उनके साथ कुछ ऐसा ही हुआ था. ठीक वैसा ही उनके साथ फिल्म चालबाज के साथ भी हुआ था. इस फिल्म में सनी अपने रोल से खुश नहीं थे. ऐसे में यश चोपड़ा की तरह सनी देओल ने पंकज पाराशर के साथ भी दूरी बना लगी. इन दोनों के साथ कभी भी काम ना करने की कसम खा ली थी.

https://images.news18.com/ibnkhabar/uploads/2023/09/Sunny-Deol-film-169512002416×9.jpg